Congress: प्रमोद तिवारी के नेतृृत्व में नार्वे प्रतिनिधि मण्डल के बींच हुई द्विपक्षीय वार्ता

भारतीय दौरे पर आये नार्वे के संसदीय प्रतिनिधि मण्डल के साथ देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस संसदीय दल का राज्य सभा में विपक्ष के उप नेता ने नेतृृत्व करते हुये देश के राष्ट्रीय हितों से जुड़े मुद्दों पर द्विपक्षीय वार्ता में भारतीय हितों पर नार्वे का खासा ध्यान आकृृष्ट कराया है। कांग्रेस संसदीय दल के प्रमोद तिवारी के नेतृृत्व में नार्वे प्रतिनिधि मण्डल के बींच हुई सार्थक द्विपक्षीय वार्ता की. सबसे अहम सफलता नार्वे के द्वारा अब चीन के मसले पर भारतीय पक्ष के समर्थन में नैतिक बल प्रदान किये जाने को लेकर मिली है।

नई दिल्ली में सोमवार की देर शाम काफी देर तक हुई द्विपक्षीय वार्ता में  राज्य सभा में विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी तथा नार्वे प्रतिनिधि मण्डल दल की नेता इस्लाग सेम के बींच द्विपक्षीय हितों को लेकर दोनों देशों ने मिलकर सामाजिक, व्यापारिक, तकनीकी ज्ञान, राजनैतिक विमर्ष के साथ शैक्षिक हितों से जुड़े मुद्दों पर दोनों देश और प्रागण रिश्ते के साथ आगे बढ़ेंगे।

विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी द्वारा चीन के मसले पर द्विपक्षीय वार्ता में भारतीय हितों को लेकर सारगर्भित उठाये गये मजबूत बिन्दुओं को लेकर नार्वे की सहमति बड़ी राष्ट्रीय उपलब्धि के रूप में दोनों देशों के बींच द्विपक्षीय वार्ता की कूटनय के क्षेत्र में सबसे बड़ी सफलता बनकर उभरी है।

कांग्रेस संसदीय दल का प्रतिनिधित्व करते हुये विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी ने द्विपक्षीय वार्ता में चीन द्वारा जबरिया भारतीय भूभाग पर कब्जे को लेकर अपने राष्ट्रीय हितों पर नार्वे के खुले समर्थन की आवाज उठाने को लेकर मजबूत दावे रखे। इसे लेकर नार्वे प्रतिनिधि मण्डल में शामिल वहां की नेता इस्लाग सेम के साथ ही नार्वे की पूर्व प्रधानमंत्री एर्ना सोल वर्ग ने भी राज्य सभा में विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी द्वारा भारतीय पक्ष को सकारात्मक करार देते हुये चीन के मसले पर नार्वे द्वारा नैतिक बल दिये जाने का ऐलान किया है, वहीं सबसे बड़ी खासियत द्विपक्षीय वार्ता से प्रमुख विपक्षी दल कांगे्रस के लिये यह सामने आयी है कि नार्वे प्रतिनिधि मण्डल ने कांग्रेस संसदीय दल के सांसदों के समूह को विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी के नेतृृत्व में नार्वे संसद में भी आतिथ्य न्यौता दिया है,  इससे निकट भविष्य में नार्वे की संसद में प्रमोद तिवारी के नेतृृत्व में देष की प्रमुख विपक्षी पार्टी की भी आवाज गूंजने की उत्साह जनक संभावना को लेकर जिले में कार्यकर्ताओं और समर्थकों में मंगलवार को खुषी का माहौल देखा गया है । वैदेषिक प्रतिनिधि मण्डल के इस स्वदेष दौरे में प्रमुख विपक्षी दल के साथ भी द्विपक्षीय हितों को साधे रखने के लिये कांगे्रस संसदीय दल के साथ यह अहम बैठक सार्थक नतीजे लेकर आयी है।

नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के आवास पर देर रात तक चली द्विपक्षीय वार्ता बैठक के दौरान राज्य सभा मे विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी के साथ नार्वे प्रतिनिधि मण्डल में शामिल वैदिक मेहमान टुल्स वासनिक, स्वेरे मिरली, गे्रट बोल्ड, मार्गथ सेक्सेगाॅर्ड व इंग्रिड होडनेबो ने भी द्विपक्षीय वार्ता के सकारात्मक सुखद नतीजों पर खुषी जताई।

वहीं नार्वे प्रतिनिधि मण्डल ने देष के प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस का नेतृृत्व कर रहे उप नेता प्रमोद तिवारी के जरिये भारत को यह भरोसा दिलाया कि वार्ता से उपजे दोनों देशों के प्रगाण सम्बन्ध को लेकर अब तकनीकी ज्ञान व व्याापार के क्षेत्र में दोनो देष मिलजुल कर आगे बढ़ेंगे। नार्वे प्रतिनिधि मण्डल के सदस्यों का विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी ने कांगे्रस संसदीय दल की ओर से गर्मजोशी से स्वागत किया।

वार्ता की सफलता को लेकर नार्वे प्रतिनिधि मण्डल के सदस्य भी विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी के भारतीय हितों के साथ द्विपक्षीय संबंधों में नार्वे के हितों को लेकर भी वैदेशिक पटल पर सकारात्मक नतीजे की भी उम्मीद भारत के राष्ट्रीय हितों को लेकर मिली इन बड़ी सफलताओं में प्रमुख विपक्षी दल कांगे्रस के राष्ट्रीय मुद्दों पर उठायी गयी मजबूत आवाज की देष व्यापाी सराहना होती हुई देखी जा रही है। नार्वे प्रतिनिधि मण्डल के साथ राज्य सभा में विपक्ष के उप नेता प्रमोद तिवारी के कांग्रेस संसदीय दल के प्रतिनिधित्व के साथ हुई द्विपक्षीय वार्ता की जानकारी यहाँ मीडिया प्रभारी ज्ञान प्रकाष शुक्ल ने दी है ।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage