UPCM Yogi ने प्रदेश में विभिन्न आपदाओं से हुई जनहानि पर शोक व्यक्त किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में विभिन्न आपदाओं से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्हांने विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं में घायलों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिये हैं।

राहत आयुक्त कार्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए विवरण के अनुसार प्रदेश में 11 फरवरी से 23 फरवरी, 2024 के मध्य अग्निकाण्ड से 03, आकाशीय विद्युत से 06, आंधी-तूफान से 01, बेमौसम अतिवृष्टि से 01, डूबने से 04, मानव वन्य जीव द्वन्द्व से 03 तथा पशु से 02 जनहानि हुई है। इन आपदाओं से कुल 10 पशुहानि हुई है।

इनमें अग्निकाण्ड से जनपद गोण्डा, फतेहपुर व फर्रूखाबाद में 01-01 जनहानि हुई है। आकाशीय विद्युत से जनपद मीरजापुर में 04 व प्रयागराज में 02 जनहानि हुई है। आंधी-तूफान से जनपद हमीरपुर में 01 जनहानि हुई है। बेमौसम अतिवृष्टि से जनपद प्रयागराज में 01 जनहानि हुई है। डूबने से जनपद गोण्डा, गाजीपुर, बागपत तथा फर्रूखाबाद में 01-01 जनहानि हुई है। मानव वन्य जीव द्वन्द्व से जनपद बिजनौर, पीलीभीत तथा प्रतापगढ़ में 01-01 जनहानि हुई है। पशु से जनपद बिजनौर व पीलीभीत में 01-01 जनहानि हुई है। राहत आयुक्त कार्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए विवरण के अनुसार आपदा से हुई जनहानि में प्रत्येक प्रभावित परिवार को 04 लाख रुपये की अनुमन्य राहत राशि प्रदान करते हुए कुल 80 लाख रुपये की धनराशि प्रदान की गयी है।

बड़े व दुधारू पशुहानि में 37,500 रुपये, छोटे पशुहानि में 4,000 रुपये, बड़े व गैर दुधारू पशुहानि में 32,000 रुपये तथा छोटे व गैर दुधारू पशुहानि में 20,000 रुपये मुआवजा राशि दिये जाने का प्राविधान है। जनपद फर्रूखाबाद व पीलीभीत में 01-01, बागपत में 02 और गाजीपुर व सोनभद्र में 03-03 पशुहानि हुई है। कुल 10 पशुहानि के सापेक्ष प्रभावित लोगों को मुआवजा राशि प्रदान की गयी है।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage