RVSF, ATS एवं DTC के अवस्थापना निर्माण हेतु इच्छुक निवेशकों को मिलेगा UP MSME नीति-2022 की नीति का लाभ

उत्तर प्रदेश में परिवहन विभाग द्वारा स्थापित किये जाने वाले रजिस्टर्ड व्हीकल स्क्रैपिंग फैसिलिटी (आरवीएसएफ), आटोमेटेड टेस्टिंग स्टेशन (एटीएस) एवं ड्राइविंग ट्रेनिंग सेन्टर (डीटीसी) की अवस्थापना निर्माण में निवेशकों को विनिवेश में सुगमता एवं गतिशीलता सुनिश्चित करने हेतु ’’उ0प्र0 सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम प्रोत्साहन नीति-2022’’ में उल्लिखित प्राविधानों का लाभ निवेशकों को प्राथमिकता के आधार पर उपलब्ध कराने के लिए प्रमुख सचिव परिवहन वेंकटेश्वर लू ने सभी विभागाध्यक्ष, मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं।

प्रमुख सचिव ने बताया कि स्वैक्षिक वाहन बेड़ा आधुनिकीकरण कार्यक्रम (वीवीएनपी)/वाहन स्क्रैपिंग नीति को सफल बनाने के लिए प्रदेश में आरवीएसएफ, एटीएस तथा डीटीसी की स्थापना किया जाना आवश्यक है। इस नीति का उद्देश्य पर्यावरण से प्रदूषण को कम करना, सड़क सुधार, यात्रियों तथा वाहनों की सुरक्षा, ईधन खपत क्षमता में सुधार, वाहनों की मरम्मत लागत में कमी लाना और अर्थव्यवस्था पर बहुआयामी धनात्मक प्रभाव लाना है।

प्रमुख सचिव ने बताया कि उ0प्र0 एमएसएमई नीति-2022 की नीति में किये गये प्राविधानों का लाभ परिवहन विभाग के तहत आरवीएसएफ, एटीएस एवं डीटीसी के अवस्थापना निर्माण हेतु इच्छुक निवेशकों को भी प्राप्त होंगे। इसी प्रकार एटीएस तथा डीटीसी सेवा क्षेत्र की इकाईयॉ है। इन इकाईयों को भी उ0प्र0 एमएसएमई प्रोत्साहन नीति-2022 के अंतर्गत विनिर्माण संबंधी सेवाओं में कामन फैसिलिटी सेन्टर के रूप में लाभांवित किया जायेगा। परिवहन विभाग की उपरोक्त इकाईयों को उ0प्र0 एमएसएमई नीति-2022 से लाभांवित किये जाने हेतु ऐसी स्थापित होने वाली समस्त इकाईयॉ अनिवार्य रूप से उद्यम रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करायेगी।

UP MSME नीति-2022 की नीति के तहत मिलेंगे यह लाभ

एमएसएमई अधिनियम 2020 में वर्णित वित्तीय प्रोत्साहन/छूट/उपादान विषयक प्राविधान यथा भूमि उपलब्धता,ब्याज प्रतिपूर्ति एवं स्टांप शुल्क में छूट, व्यापार करने में सुगमता ,अनुकूल वातावरण का सृजन एवं संवेदनशील प्रशासन, वित्तीय सहायता- निवेश प्रोत्साहन सहायता, पूंजी उपादान , पूंजीगत ब्याज उपादान, क्षमता विकास एवं प्रशिक्षण गुणवत्ता तथा मानक, पर्यावरणीय आधारभूत संरचना और पहल के लिए प्रोत्साहन जैसे लाभ निवेशकों को प्राप्त होंगे।

Related Articles

Back to top button
btnimage