UPCM ने देवरिया में ‘स्कूल चलो अभियान’ और ‘दस्तक’ अभियान का शुभारम्भ किया

उत्तर प्रदेश।
UPCM देवरिया के लवकनी ग्राम में ‘स्कूल चलो अभियान’, ‘विशेष संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़े’ और ‘दस्तक’ अभियान के शुभारम्भ के उपरान्त आयोजित जनसभा में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह सरकार लोकतांत्रिक मूल्यों एवं महापुरुषों का सम्मान करती है। लोकतंत्र में संवाद के द्वारा अपनी समस्याओं को रखने का सभी का अधिकार है इसमें हिंसा का कोई स्थान नहीं है। कानून को हाथ में लेने, कानून के लिये चुनौती, अराजकता फैलाने की छूट किसी को नहीं होगी। निर्दोष लोगों को पीड़ित करना, सरकारी सम्पत्तियों को क्षति पहुंचाना मंजूर नहीं होगा। ऐसे तत्वों से सख्ती से निपटा जायेगा।

UPCM ने प्राथमिक स्कूल के बच्चों को यूनिफार्म, बैग, किसानों को सोलर पम्प हेतु स्वीकृति पत्र तथा बीज किट, राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत गठित तीन समूहों को वाहन की चाभी प्रदान की तथा खेल प्रतियोगिताओं में पदक विजेता छात्रों को सम्मानित भी किया। उन्होंने दिमागी बुखार (JE/AES) के नियंत्रण हेतु पखवाड़ा के तहत लवकनी ग्राम के प्राथमिक विद्यालय के परिसर में टीकाकरण कार्य का भी शुभारम्भ किया।

UPCM ने कहा कि दिमागी बुखार (JE/AES) बीमारी का निदान उपचार से अधिक बचाव में है। इसका पूर्ण रूप से उन्मूलन बचाव से ही सम्भव है। इसके दो वायरस चिन्हित किये गये है जिसमें से एक मच्छर द्वारा उत्पन्न होता है। बचाव के तहत साफ-सफाई अपनाना तथा शौचालय का प्रयोग करना आदि छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना चाहिए। इस बीमारी पर नियंत्रण के लिए शुद्ध पेयजल का उपयोग किया जाना चाहिए। इसके लिए घर-घर में शुद्ध पेयजल पहुँचाने की तैयारी है। इण्डिया मार्का हैण्डपम्प का पानी ही प्रयोग करना चाहिये। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधानों को खराब हैण्डपम्पों की मरम्मत/रिबोर का कार्य ग्राम पंचायत निधि से कराने का अधिकार दिया गया है, जिससे सभी को शुद्ध जल मिल सके। उन्होंने कहा कि इन सभी मानको को अपनाने के बावजूद भी यदि बीमारी रह जाती है तो उसके लिये चिकित्सीय व्यवस्था की जा रही है। सभी बच्चों का टीकाकरण किया जायेगा। PHC एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं जिला चिकित्सालय में इसके इलाज की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है।

UPCM ने कहा कि स्वाबलम्बी समाज ही अपनी रक्षा कर सकेगा। इसके लिए शिक्षा परम आवश्यक है। कोई भी बालक/बालिका शिक्षा से वंचित न रहे, इसके लिये सभी को संकल्प लेना चाहिये और बच्चों का स्कूलो में दाखिला कराना चाहिये। बालक व बालिका में कोई भेदभाव न करे। उन्होंने कहा कि गत वर्ष एक करोड़ 54 लाख बच्चों का दाखिला कराया गया था उनको दो-दो यूनिफार्म, बैग, पुस्तक मोजा, जूते, स्वेटर की व्यवस्था करायी गयी थी। इस साल से बेसिक विद्यालयों में भी NCERT पाठ्यक्रम लागू किया गया है ताकि गरीब का बच्चा भी उच्च शिक्षा प्राप्त कर सके। प्रदेश अब बेसिक शिक्षा का भी उत्तम केन्द्र बनेगा।

UPCM ने कहा कि देवरिया जनपद खेती किसानी का जनपद है। कृषकों के लिये लागू की गयी कृषि फसल बीमा योजना के पोर्टल संचालित किया गया है। योजना से वंचित कृषक अपनी समस्या 15 अप्रैल, 2018 तक दर्ज करा सकते हैं। इस संबंध में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वंचित कृषकों की समस्याओं का निस्तारण करते हुए उनकी पात्रता अनुसार लाभ दिलाया जाए। गन्ना किसानों के बकाया के चर्चा करते हुए कहा कि उनका बकाया वर्ष 2012-13 से लम्बित रहा है। जो मामले न्यायालय में लम्बित हैं, उसे छोड़कर गन्ना किसानों का सम्पूर्ण भुगतान कराने हेतु यह सरकार कृत संकल्पित है।

प्रदेश में धान की रिकार्ड खरीद की गयी है। इसी तरह से अब 5500 स्थलों पर गेहूं क्रय केन्द्र स्थापित कर खरीदारी प्रारम्भ कर दी गयी है। गत वर्षो से इस बार गेहूं का समर्थन मूल्य 110 रुपये बढाया गया है। अब कृषकों को 1735 रुपये प्रति कुन्तल और 10 रुपये अतिरिक्त रुप से ढुलाई आदि के दिये जाने के साथ प्रति कुन्तल 1745 रुपये दिया जायेगा। इस वर्ष गेहूं क्रय का 50 लाख मैट्रिक टन का लक्ष्य रखा गया है तथा कृषको के गेहूं मूल्य का भुगतान 72 घण्टे के अन्दर उनके खातों में किया जायेगा।

UPCM ने जनपद के गौरी बाजार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण किया। उन्होंने भर्ती मरीजों को वार्ड में जाकर देखा व दवा, इलाज के बारे में उनसे जानकारी ली। इस दौरान उन्हांेने संचालित विशेष जागरूकता अभियान ‘दस्तक’ के तहत बच्चों सहित सारथी वाहनों को झण्डी दिखाकर रवाना किया। सारथी वैन को बच्चों के साथ रवाना के दौरान उन्होंने बच्चों से टीकाकरण के संबंध में पूछा। उन्होंने निर्देशित किया कि जिन बच्चों का टीकाकरण न हुआ हो उन्हें टीका लगाया जाये। कोई भी बच्चा टीकाकरण से वंचित नहीं रहना चाहिये। UPCM ने इस बीमारी के प्रति जन जागरुकता हेतु आयी नुक्कड़ नाटक टीम की नाटिका का अवलोकन कर उन्हें क्षेत्र में प्रचार-प्रसार हेतु रवाना किया।

UPCM ने सामुदायिक केन्द्र पर बने गम्बूजिया संवर्धन केन्द्र का भी अवलोकन किया। उन्होंने निर्देश दिए कि गम्बूजिया मछलियों को सभी तालाबों में डाला जाये, जिससे मच्छर के लार्वा उत्पन्न न हो सके और इस बीमारी को नियंत्रण किया जा सके।

UPCM ने लवकनी ग्राम के मलिन बस्ती का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना, शौचालय आदि के निर्माण कार्य व गुणवत्ता को देखा। लाभार्थियों से बातचीत की और उनकी समस्याओं को भी जाना। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं से कोई भी पात्र वंचित न रहे इसलिये पूरी पारदर्शिता से कार्य करते हुए योजनाओं का लाभ सभी पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाया जाना सुनिश्चित किया जाए।

इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, जनपद प्रभारी/बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल, मत्स्य राज्यमंत्री जय प्रकाश निषाद, सांसद रविन्द्र कुशवाहा उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
btnimage