प्रमुख सचिव परिवहन ने की राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियों की समीक्षा बैठक

श्रद्धालुओं/यात्रियों को बेहतर आवागमन उपलब्ध कराने के लिए बनाया जायेगा ग्रीन कॉरिडोर

श्रद्धालुओं को परिवहन की बेहतर सेवा उपलब्ध होगी

22 जनवरी के बाद प्रतिदिन लगभग एक लाख श्रद्धालुओं के अयोध्या दर्शन करने आने की संभावना

लखनऊ 17 जनवरी, 2024

प्रमुख सचिव परिवहन एल0 वेंकटेश्वर लू की अध्यक्षता में आज परिवहन निगम के सभागार कक्ष में 22 जनवरी को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में उन्होंने बताया कि गोरखपुर-अयोध्या, प्रयागराज-अयोध्या, वाराणसी-अयोध्या, लखनऊ-अयोध्या मार्ग पर ग्रीन कॉरिडोर बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं/यात्रियों को आवागमन में समस्या न हो, इसी के दृष्टिगत दो माह के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है। आवश्यकतानुसार इसे आगे भी बढ़ाया जायेगा। रेलवे अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं के लिए आस्था एक्सप्रेसवे का संचालन कर रहा है। आने वाले श्रद्धालुओं को आवागमन की सुविधा के लिए परिवहन निगम इलेक्ट्रिक बसें संचालित करेगा।

प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि टैक्सी, इलेक्ट्रिक आटो, बसे इत्यादि आसानी से उपलब्ध हो, इसकी तैयारी किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी सुनिश्चित कर लें कि ड्राइवर/कंडक्टर वर्दी में रहें। ब्रेथ एनलाइजर से सभी चालक/परिचालक की जॉच की जाए। इण्टरसेप्टर के माध्यम से ओवर स्पीडिंग की भी जॉच की जाए, जिससे कि दुर्घटना को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि बसों में ओवर लोडिंग की जॉच की जाए।

प्रमुख सचिव ने कहा कि बस स्टेशन एवं बसें साफ-सुथरी रहें। बसों एवं बस स्टेशनों पर रामधुन/राम भजन बजाया जाए। जिससे कि आने वाले श्रद्धालुओं को गुडफिल हो। उन्होंने कहा कि एलईडी एवं फ्लैक्सी के माध्यम से श्रद्धालुओं को जानकारी उपलब्ध करायी जाए। बसों में अधिकारियों के कान्टेक्ट नम्बर लिखे हों। उन्होंने कहा कि 22 जनवरी के पश्चात प्रतिदिन एक लाख श्रद्धालुओं के अयोध्या दर्शन करने आने की संभावना है। श्रद्धालुओं को बेहतर परिवहन सेवा उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी परिवहन विभाग की है। उन्होंने अधिकारियों को सतर्क एवं लगनशीलता के साथ कार्य करने के निर्देश दिये।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage