आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर युद्धाभ्यास, 11 अप्रैल तक बंद रहेगा

आगरा- लखनऊ एक्सप्रेसवे पर 2 अप्रैल से 11 अप्रैल तक यातायात बंद रहेगा। भारतीय वायु सेना के गगन शक्ति अभियान के तहत अभ्यास के चलते 10 दिनों के लिए यातायात के लिए डायवर्जन लागू किया गया है। एक्सप्रेसवे की एयर स्ट्रिप में तीसरी बार हो रही लड़ाकू विमानों की रिहर्सल में छह और सात अप्रैल को जगुआर, सुखोई, मिराज-2000 विमान यहां उतरेंगे। इसके चलते 2 से 11 अप्रैल तक बांगरमऊ, उन्नाव की हवाई पट्टी के साढ़े तीन किमी क्षेत्र को ब्लाक रखा जाएगा। वाहनों को सर्विस रोड से होकर गुजारा जाएगा।

दो अप्रैल सुबह आठ बजे से 11 अप्रैल को दोपहर 12 बजे तक आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के चैनेज 239+600 से चैनेज 244+400 के मध्य यातायात को सर्विस रोड के माध्यम से डायवर्ट किया जाएगा। इससे पहले पहली बार 2016 में भारतीय वायु सेना ने छह लड़ाकू विमान उतारे थे।

भारतीय वायु सेना ने देश भर के सैन्य हवाई अड्डों के जरिए अब तक सबसे बड़ा युद्धाभ्यास शुरू कर दिया है। इस युद्धाभ्यास के दायरे में आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे भी है। यूपीडा ने इस एक्सप्रेसवे का एक हिस्सा 12 अप्रैल तक बंद करने का निर्णय लिया है। विकल्प के तौर पर सर्विस रोड से वाहन गुजर सकेंगे। यूपीडा के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने इस संबंध में सोमवार को आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि भारतीय वायु सेना के गगन शक्ति के अंतर्गत अभ्यास के लिए आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे एयरस्ट्रिप का उपयोग किया जाएगा।

आदेश के अनुसार 2 अप्रैल को सुबह 8 बजे से 11 अप्रैल को दोपहर बारह बजे तक आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे का एयरस्ट्रिप वाले क्षेत्र में यातायात सर्विस रोड से होगा। यहां उन्नाव के पास बनी एयरस्ट्रिप पर लड़ाकू विमान अभ्यास करने के लिए टेक आफ व लैंडिंग कर सकते हैं। इस अभियान को वायु सेना गगन शक्ति नाम दिया है। इसमें देश के सभी वायु सेना स्टेशन की भागीदारी होगी। इसमें वायु सेना के लड़ाकू विमान तेजस, राफेल, सुखोई 30, जगुआर हिस्सा लेंगे।

एक्सप्रेसवे की एयर स्ट्रिप में तीसरी बार हो रही लड़ाकू विमानों की रिहर्सल में छह और सात अप्रैल को जगुआर, सुखोई, मिराज-2000 विमान यहां उतरेंगे। इसके चलते 2 से 11 अप्रैल तक बांगरमऊ, उन्नाव की हवाई पट्टी के साढ़े तीन किमी क्षेत्र को ब्लाक रखा जाएगा। वाहनों को सर्विस रोड से होकर गुजारा जाएगा। दो अप्रैल सुबह आठ बजे से 11 अप्रैल को दोपहर 12 बजे तक आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के चैनेज 239+600 से चैनेज 244+400 के मध्य यातायात को सर्विस रोड के माध्यम से डायवर्ट किया जाएगा। इससे पहले पहली बार 2016 में भारतीय वायु सेना ने छह लड़ाकू विमान उतारे थे।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage