मुख्यमंत्री ने गोरखपुर के सहजनवां में राजकीय पॉलिटेक्निक में नवनिर्मित आवासीय/अनावसीय भवनों का लोकार्पण किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद गोरखपुर में लगभग 21 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय पॉलिटेक्निक सहजनवां में नवनिर्मित आवासीय/अनावसीय भवनों का लोकार्पण किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सहजनवां क्षेत्र को तकनीकी शिक्षा में एक नई सौगात प्राप्त हुई है। इस क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के सहयोग से निर्मित यह विद्यालय यहां के छात्रों को तकनीकी शिक्षा प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। शासन का पूरा प्रयास है कि इसी सत्र से यहां शिक्षण कार्य प्रारम्भ हो सके। यह पॉलिटेक्निक, सहजनवां क्षेत्र के विकास में बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी साबित होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सहजनवां क्षेत्र में गीडा का लगातार विस्तार हो रहा है। यहां नित नए उद्योग लग रहे हैं। इन उद्योगों से लगातार नए-नए रोजगार सृजित हो रहे हैं। यहां पर लगने वाले उद्योगों से इस पॉलिटेक्निक के डिप्लोमा धारक छात्र अपनी शिक्षा पूर्ण करने के पश्चात स्थानीय स्तर पर ही रोजगार प्राप्त कर सकेंगे। सहजनवां के साथ जनपद गोरखपुर के विकास में इस पॉलिटेक्निक की बड़ी भूमिका होगी। शासन के तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा 21 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित इस आधुनिक राजकीय पॉलिटेक्निक में प्रशासनिक भवन, शैक्षणिक भवन, छात्र-छात्राओं के लिए छात्रावास के साथ कर्मचारियों के लिए भी आवास का निर्माण किया गया है, ताकि उच्चस्तर की शिक्षा का कार्य सुचारु रूप से संचालित हो सके। छात्रावास में 60-60 छात्र-छात्राओं के रहने एवं पढ़ने का पूर्ण इंतजाम किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का समय तकनीक का समय है। समय के अनुरूप उन्नत तकनीक को लेकर हमें आगे बढ़ना होगा। इसके लिए हमें युवाओं को न्यू एज कोर्सेज की शिक्षा प्रदान करनी होगी, ताकि हमारा युवा किसी भी तरह से पीछे न हो सके। आज कुछ युवा विभिन्न ऑनलाइन फर्जी कम्पनियों के लालच में फंसकर अपना धन और समय दोनों बेकार कर देते हैं। आज दुनिया में साइबर सिक्योरिटी भी एक बड़ा मुद्दा बन चुका है। साइबर सिक्योरिटी के लिए भी डिग्री या डिप्लोमा कार्यक्रम का संचालन कर प्रशिक्षित युवा तैयार किया जा सकता है। साइबर सिक्योरिटी में प्रशिक्षित युवा साइबर से सम्बन्धित विभिन्न मुद्दों में अपना योगदान देते हुए रोजगार प्राप्त कर सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा प्रयास है कि युवा आज की नई तकनीक जैसे इंटरनेट आफ थिंग्स, डाटा एनालिटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि की शिक्षा से वंचित न हो। रोजगार प्राप्त युवा अपनी समृद्धि के साथ गोरखपुर और राष्ट्र के विकास में भी बड़ा योगदान देंगे। आज उत्तर प्रदेश में सुरक्षा के सुदृढ़ माहौल के कारण एक बेहतरीन औद्योगिक वातावरण का विकास हुआ है। प्रशिक्षित कार्यबल के लिए शासन द्वारा लगातार कार्य किये जा रहे हैं। युवाओं को कौशल बनाने के लिए डिग्री और डिप्लोमा के कई कोर्स चलाये जा रहे हैं। आज उत्तर प्रदेश में तीन तकनीकी विश्वविद्यालय हैं, जिसमें पहला लखनऊ में दूसरा कानपुर में और तीसरा गोरखपुर में मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय है। प्रदेश में वर्तमान में विभिन्न राजकीय इंजीनियरिंग काॅलेज, सैकड़ों पाॅलिटेक्निक एवं आई0टी0आई0 काॅलेज के साथ निजी इंजीनियरिंग कालेज तकनीकी शिक्षा को आगे बढ़ा रहे हैं। व्यावसायिक शिक्षा विभाग कई प्रकार के न्यू एज कोर्स चलाकर युवाओं को रोजगार प्रदान करने का कार्य कर रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर में आज विभिन्न विकास कार्य संचालित हो रहे हैं। विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लगातार विकास एवं जनकल्याण का कार्य किया जा रहा है। गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे भी लगभग बनकर तैयार हो चुका है तथा गीडा में लगातार नए-नए उद्योग लग रहे हैं। जिस क्षेत्र में पहले स्लॉटर हाउस बनाया जा रहा था, आज वहां पर नए-नए उद्योग लग रहे हैं। जल्द ही इस क्षेत्र में पेप्सिको भी अपना केंद्र खोलने जा रही है, जिसके उद्घाटन का कार्य शीघ्र ही किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पॉलिटेक्निक सहजनवां क्षेत्र के विकास में एक महत्वपूर्ण केंद्र होगा। यहां लगने वाले उद्योग, बेहतरीन चैड़ी सड़कें, नव निर्मित अटल आवासीय विद्यालय तथा उसके बाद अब यह पॉलिटेक्निक इस क्षेत्र को रोजगार युक्त व आत्मनिर्भर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज गोरखपुर में 56 करोड़ रुपये की नई विकास परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया जा रहा है। बाढ़ बचाव हेतु जनपद में विभिन्न क्षेत्र में उन्नत तरीके से बांधों का निर्माण कार्य किया जा रहा है। कुछ बांधों का निरीक्षण भी किया गया है, जो बहुत ही अच्छे तरीके से बनाए जा रहे हैं। इन बांधों के निर्माण के फलस्वरूप गोरखपुर में इतनी वर्षा होने के बावजूद कोई दिक्कत नही हो रही है। उन्होंने कहा कि यह पॉलिटेक्निक इस क्षेत्र के युवाओं को यहां की औद्योगिक मांग के अनुसार तकनीकी दक्ष बनाकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने का कार्य करेगा।

इस अवसर पर विधायक प्रदीप शुक्ला ने भी लोगों को संबोधित किया। कार्यक्रम में विधायक राम चौहान,  राजेश त्रिपाठी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव तकनीक एवं व्यवसायिक शिक्षा एम0 देवराज व शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
btnimage