पंचायतीराज मंत्री ने की विभागीय समीक्षा बैठक, स्मार्ट सिटी के तर्ज पर स्मार्ट विलेज की कार्ययोजना बनाएं

योजनाओं/परियोजनाओं को समय से पूर्ण कराते हुए इसका लाभ लोगों तक पहुंचाएं

पंचायतें अपनी आय को स्वयं बढ़ाने का भी प्रयास करें

अधिकारी 30 जून तक कम से कम तीन जनपदों का भ्रमण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें

अधिक से अधिक वृक्षारोपण के लिए पंचायतीराज विभाग तैयारी अभी से कर लें -ओम प्रकाश राजभर

उत्तर प्रदेश के पंचायतीराज अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने आज पंचायतीराज विभाग अलीगंज स्थित सभागार कक्ष में पंचायतीराज अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने पंचायती विभाग में चल रही योजनाओं/परियोजनाओं एवं आगामी योजनाओं/परियोजनाओं की विस्तारपूर्वक जानकारी ली। उन्होंने विभाग में स्वीकृत पदों के सापेक्ष रिक्त पदों की स्थिति की जानकारी ली एवं भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए निर्देश दिए। उन्होंने अभी तक किए गए बहुत-से विभागीय कार्यों की प्रशंसा की एवं विभाग द्वारा तय लक्ष्यों को समय से पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने पंचायत विभाग में अधूरे पड़े निर्माण कार्यों को समय से पूर्ण करने के निर्देश दिए।


पंचायतीराज मंत्री ने जिला पंचायतों की आय बढ़ाने पर प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हमारी पंचायतों के पास आय बढ़ाने के भरपूर संसाधन पंचायतों में ही उपलब्ध हैं। पंचायतें कर्मचारियों के वेतन एवं अन्य भत्तों की स्वयं भी प्रयास करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि 30 जून, 2024 तक कम से कम तीन जनपद का भ्रमण स्वयं करें, कहीं पर भी अनियमितता पाये जाने पर उसे दूर करने का प्रयास भी करें। उन्होंने कहा कि जो भी योजनाएं बनायी जाएं उसका लाभ लोगों तक पहुंचे और धरातल पर लोग इसका अनुभव भी करें तभी योजनाएं सफल मानी जायेंगी।

पंचायतीराज मंत्री ने कहा कि पंचायतों के अंतर्गत निर्माण कार्यों में एक ही ग्राम पंचायत में ज्यादा से ज्यादा कार्य आवंटित किये जाने की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। मुख्यालय के अधिकारी इसकी मॉनीटरिंग करें एवं नियमों का शतप्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करायें। उन्होंने निर्देश दिए कि फील्ड के अधिकारी ग्राम पंचायतों के भ्रमण पर जाएं और भ्रमण की सूचना रजिस्टर पर भी अंकित करें, जिससे कि उनके द्वारा किये गए निरीक्षण की जानकारी हो सके।

पंचायती राज मंत्री ने अधिकारियों से स्मार्ट सिटी के तर्ज पर स्मार्ट विलेज की संकल्पना का प्रस्ताव बनाने का भी सूझाव दिया। उन्होंने कहा कि दक्षिण भारत के राज्यों में स्मार्ट विलेज की संकल्पना पर कार्य किया भी जा रहा है। उन्होंने सफाई कर्मियों की ऑनलाइन उपस्थिति हेतु बायोमेट्रिक की व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए। साथ ही जीआईएस मॉनीटरिंग के द्वारा भी उनकी उपस्थिति की जानकारी ली जाए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कूड़ा निस्तारण एवं स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाए।

पंचायतीराज मंत्री ने कहा कि जुलाई माह में वृक्षारोपण का वृहद अभियान चलाया जायेगा। गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी अधिक से अधिक वृक्षारोपण कर पंचायतीराज विभाग को नम्बर वन बनाना है। उन्होंने कहा कि पंचायत भवन की बाउण्ड्री से लगी जमीनों, ग्राम पंचायत में स्थित तालाबों, पोखरों इत्यादि के किनारे वृक्षारोपण कराया जाए। न केवल वृक्ष लगाएं बल्कि उसका संरक्षण एवं संवर्धन भी जरूरी है। वातावरण दिन प्रतिदिन घातक होता जा रहा है। हमें आने वाली पीढ़ियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए अधिक से अधिक संसाधनों को बचाकर रखना होगा।

इस अवसर पर निदेशक पंचायतीराज अटल कुमार राय ने पंचायतीराज मंत्री का धन्यवाद ज्ञापित किया और उन्हें आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिए गए निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। बैठक में अपर निदेशक पंचायतीराज राज कुमार, संयुक्त निदेशक पंचायतीराज आरएस चौधरी एवं एसके सिंह, उपनिदेशक पंचायतीराज परवीना चौधरी, एसएन सिंह, योगेन्द्र कटियार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
btnimage