सीएम योगी ने किया मीरजापुर के मां विन्ध्यवासिनी राज्य विश्वविद्यालय शिलान्यास

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद मुरादाबाद में उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालय, मुरादाबाद का शिलान्यास किया। उन्होंने जनपद मीरजापुर के मां विन्ध्यवासिनी राज्य विश्वविद्यालय, मीरजापुर का वर्चुअल माध्यम से शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने जनपद मुरादाबाद के विकास की 513.35 करोड़ रुपये लागत की 112 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी किया। उन्होंने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को आवास की प्रतीकात्मक चाभी, प्रमाण पत्र, डेमो चेक, आयुष्मान कार्ड तथा स्मार्ट फोन प्रदान किये।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज जनपद मुरादाबाद में विश्वविद्यालय के साथ ही 513 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है। होली के पहले मुरादाबादवासियों के लिए यह उपहार लेकर वह यहां आए हैं। इसके साथ ही मां विन्ध्यवासिनी राज्य विश्वविद्यालय का शिलान्यास भी सम्पन्न हो रहा है। मुरादाबाद में बनने वाला राज्य विश्वविद्यालय यहां की दशकों पुरानी मांग थी। प्रदेश सरकार ने इसके लिए 50 एकड़ भू-भाग प्रदान किया है। दोनों विश्वविद्यालयों के लिए पहले चरण में 180-180 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए गए हैं। द्वितीय चरण में इसे और विस्तार देकर वल्र्ड क्लास यूनिवर्सिटी के रूप में स्थापित करने के लिए राज्य सरकार पूरी प्रतिबद्धता से कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद मुरादाबाद अपने हस्तशिल्प तथा कारीगरी के लिए विख्यात है। हमारी सरकार ने लोक कल्याण संकल्प पत्र में घोषणा की थी कि हर कमिश्नरी में एक राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी। मुरादाबाद तथा मीरजापुर में राज्य विश्वविद्यालय के शिलान्यास से यह कार्य पूर्ण होने जा रहा है। कल ही उन्होंने देवीपाटन मंडल में एक विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी है।

मुख्यमंत्री ने मुरादाबाद के राज्य विश्वविद्यालय का नाम गुरु जम्भेश्वर के नाम पर करने की घोषणा करते हुए कहा कि यह विश्वविद्यालय मुरादाबाद के हस्तशिल्प को नई पहचान देगा। मुरादाबाद में ब्रास का विश्व स्तरीय काम हो रहा है। यह जनपद एक्सपोर्ट का नया सेन्टर बना है। अकेले मुरादाबाद से 06 हजार करोड़ रुपये का निर्यात हो रहा है। यह जनपद ओ0डी0ओ0पी0 के माध्यम से उत्तर प्रदेश को नई पहचान दे रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि आत्म निर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए हमें अपने हस्तशिल्पियों, कारीगरों और उद्यमियों को प्रोत्साहित करना होगा, उन्हें आत्मनिर्भरता के मार्ग पर आगे बढ़ाना होगा।  हमें अपने युवाओं को स्टार्टअप के लिए प्रेरित करना होगा। उन्हें इस प्रकार का मंच देना होगा। यह विश्वविद्यालय इनके लिए आधारशिला का कार्य करेगा।

हर मण्डल में एक-एक विश्वविद्यालय बनाने का हमारा संकल्प था। इसके साथ ही, प्रदेश में निजी विश्वविद्यालयों को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है। प्रदेश में अब तक 22 निजी क्षेत्र के विश्वविद्यालय बनाए गए हैं। इसके लिए एक नीति भी बनाई गई है। गुणवत्ता के साथ कोई भी समझौता नहीं किया जा रहा है। विश्वस्तरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ-साथ पठन-पाठन के बेहतरीन माॅडल के लिए कार्य किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘एक जनपद एक मेडिकल काॅलेज’ की दिशा में प्रदेश सरकार आगे बढ़ी है। बिजनौर में महात्मा विदुर के नाम पर मेडिकल काॅलेज बन चुका है। सम्भल तथा अमरोहा में मेडिकल काॅलेज बन रहा है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में डबल इंजन सरकार केवल सपने ही नहीं दिखाती है, बल्कि हकीकत भी बुनती है। आज डाॅ0 भीमराव आम्बेडकर उत्तर प्रदेश पुलिस अकादमी, मुरादाबाद में 08 हजार से अधिक पुलिस उपनिरीक्षकों को पासिंग आउट परेड के माध्यम से उत्तर प्रदेश पुलिस बल का हिस्सा बनाया गया है। जब सरकार की नीयत साफ होती है, तो वह लोक कल्याण, विकास, रोजगार तथा सुरक्षा की बात करती है। डबल इंजन की सरकार यही कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश ने विकास की नई ऊंचाइयां प्राप्त की हैं। देश का दुनिया में सम्मान बढ़ा है। देश में सुरक्षा का बेहतर माहौल है। भारत सभी क्षेत्रों में निवेश के नए डेस्टिनेशन के रूप में उभरा है। देश में इंफ्रास्ट्रक्चर के बड़े-बड़े कार्य हो रहे हैं। आई0आई0टी0, एम्स, हाईवे, रेलवे, मेट्रो, वॉटरवे आदि के निर्माण हो रहे हैं। 06 लेन, 04 लेन की सड़कें तथा एक्सप्रेस-वे के कार्य द्रुत गति से आगे बढ़ रहे हैं।

देश में बिना भेदभाव गरीब कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सभी तबकों तक पहुंचाने का कार्य भी किया जा रहा है। गरीबों को निःशुल्क राशन, मकान तथा पी0एम0 विश्वकर्मा योजना के माध्यम से हस्तशिल्पियों को एक प्लेटफाॅर्म उपलब्ध कराया गया है। डबल इंजन सरकार बिना भेदभाव सबका साथ, सबका विकास के मंत्र को लेकर आगे बढ़ रही है। यह सरकार जो बोलती है, वह करके भी दिखाती है। प्रदेश में हर गरीब को सिर ढकने के लिए छत तथा निराश्रित महिलाओं, वृद्धजन एवं दिव्यांगजन को पेंशन का लाभ दिया जा रहा है। बेटी के जन्म से लेकर उसके विवाह तक की व्यवस्था में सरकार सहभागी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने प्रदेश की शिक्षा तथा स्वास्थ्य व्यवस्था को बर्बाद कर दिया था। प्रदेश में  व्यापारी और बेटियां असुरक्षित थीं। प्रदेश में दंगे होते थे। राज्य के नौजवानों के सामने पहचान का संकट आ गया था। विकास कार्यों में भाई-भतीजा बाद हावी हो गया था। उत्तर प्रदेश अनलिमिटेड पोटेंशियल का राज्य था, यह अपनी पहचान का मोहताज हो गया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में विकसित भारत के संकल्प के साथ आगे बढ़े हैं। विकसित भारत के लिए विकसित उत्तर प्रदेश चाहिए। विकसित उत्तर प्रदेश के लिए विकसित मुरादाबाद तथा विकसित मीरजापुर चाहिए। इसके लिए अच्छी शिक्षा व्यवस्था होनी चाहिए। हमारे नए विश्वविद्यालय अच्छी शिक्षा का केन्द्र बनेंगे। हमारे मेडिकल काॅलेज अच्छे स्वास्थ्य के केन्द्र बनेंगे। प्रदेश सरकार की नीतियों से सभी जनपदांे में निवेश आ रहा है। प्रधानमंत्री ने इस वर्ष 19 फरवरी को जनपद सम्भल में कल्कि धाम का शिलान्यास किया, वहीं लखनऊ में साढ़े 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्तावों का शिलान्यास भी किया। इन प्रस्तावों से 35 लाख नौजवानों को नौकरी की गारन्टी मिली है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार रोजगार भी दे रही है और विकास भी कर रही है। मुरादाबाद में एयरपोर्ट तैयार हो चुका है। अब मुरादाबाद भी हवाई सेवा से जुड़ चुका है। मुरादाबाद के पास अपना हाईवे है। यहां से कुछ ही दूरी पर गंगा एक्सप्रेस-वे जा रहा है। इससे प्रयागराज की दूरी कम होगी। प्रदेश में युवाओं के लिए आजीविका है, तो आस्था का सम्मान भी है। अयोध्या में 05 सदी का इन्तजार समाप्त हुआ है। डबल इंजन सरकार ने अयोध्या में प्रभु श्रीरामलला को विराजमान करने का कार्य भी किया है।

इस अवसर पर विधान परिषद सदस्य भूपेन्द्र सिंह चैधरी, उच्च शिक्षा मंत्री योगेन्द्र उपाध्याय सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage