मुख्यमंत्री ने मथुरा में 201 करोड़ विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तहसील मांट, जनपद मथुरा में 201 करोड़ रुपये से अधिक लागत की 196 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि ब्रजभूमि की महत्ता पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। हमारा प्रदेश अनेक तीर्थाें का प्रदेश है। यहां भारत की आत्मा निवास करती है। आज प्रदेश का समग्र विकास हो रहा है। प्रदेश सरकार ने ब्रज क्षेत्र की धरोहरों की पुनर्प्रतिष्ठा हेतु ‘उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद’ का गठन किया है। उन्होंने कहा कि ‘उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद’ द्वारा ब्रज क्षेत्र के समग्र विकास के लिए विभिन्न विकास परियोजनाओं का क्रियान्वयन कराया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली के विकास के लिए प्रदेश सरकार ने मथुरा-वृन्दावन को नगर निगम का दर्जा प्रदान किया है। साथ ही, वृन्दावन, बरसाना, नन्दगांव, गोवर्धन, राधाकुण्ड, गोकुल तथा बलदेव को तीर्थ स्थल घोषित किया है। रंगोत्सव, कृष्णोत्सव एवं वैष्णव बैठक के आयोजन पूरी दुनिया में ब्रज संस्कृति को पुष्पित एवं पल्वित कर रहे हैं। 5,000 वर्षाें से यह क्षेत्र धर्म, संस्कृति, अध्यात्म तथा हर्ष एवं उल्लास के माहौल के लिए जाना जाता रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने विगत पौने पांच वर्षाें में कानून का राज स्थापित किया है। प्रदेश में कहीं भी दंगा नहीं हुआ है। राज्य सरकार ने अपराध एवं अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनायी है। माफियाओं एवं अपराधियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जा रही है। आज नौजवानों के सामने पहचान का संकट नहीं है। प्रदेश सरकार बिना रुके, बिना झुके, बिना डिगे, बिना हटे निरन्तर प्रदेश के विकास के लिए कार्य कर रही है। प्रदेश में बिना किसी भेदभाव के गांव, गरीब, किसान, महिला, नौजवान सहित समाज के सभी वर्गाें को विकास योजनाओं का लाभ प्रदान किया गया है। प्रदेश के सभी जनपदों में समान रूप से विकास की गंगा बह रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में डबल इंजन की सरकार है। प्रदेश में विकास की असीम सम्भावनाएं हैं, जिनको तलाशते हुए राज्य सरकार ने प्रदेश में चहुंमुखी विकास किया है। मथुरा से प्रदेश के विभिन्न जनपद अच्छी सड़कों के माध्यम से जुड़ चुके हैं। प्रदेश में विभिन्न एक्सप्रेस-वे, हाई-वे, सड़कों के निर्माण, मेट्रो एवं एयरपोर्ट के विकास के साथ नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों को विकसित करते हुए आधारभूत अवसंरचना को मजबूत किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में विकास की विभिन्न योजनाओं को जिस मजबूती के साथ आगे बढ़ाने का कार्य हुआ है, आज उसी का परिणाम है कि प्रदेश में कोरोना जैसी वैश्विक महामारी नियंत्रित है। कोरोना प्रबन्धन एवं नियंत्रण के उत्तर प्रदेश मॉडल की सराहना पूरे विश्व की गयी है। इस सफलता के पीछे जनता-जनार्दन के सहयोग तथा कोरोना वॉरियर्स की कार्य कुशलता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोरोना प्रबन्धन एवं नियंत्रण के साथ ही आस्था को सम्मान देने का भी कार्य किया है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में लोगों की आस्था के अनुरूप अयोध्या में श्रीराम के भव्य मन्दिर का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य में विकास, सुरक्षा एवं समृद्धि के नये द्वार खोले हैं। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के कारण अध्ययन-अध्यापन कार्य में बाधा आती है। इसलिए राज्य सरकार इसी माह से अपने युवाओं को टेबलेट/स्मार्ट फोन प्रदान करने जा रही है, जिससे वह ऑनलाइन पढ़ाई, परीक्षा व अन्य कार्य कर सकेंगे। यह नये भारत का नया उत्तर प्रदेश है, जो निरन्तर विकास पथ पर अग्रसर है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की समृद्धि के लिए लगातार कार्य किये जा रहे हैं। प्रदेश के सभी क्षेत्रों में बिना भेदभाव के निर्बाध विद्युत आपूर्ति की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में कोरोना कालखण्ड में जीवन एवं जीविका को सफलतापूर्वक बचाया गया। लोगों को निःशुल्क कोविड टेस्ट एवं उपचार के साथ गरीब लोगों को निःशुल्क खाद्यान्न का लाभ बिना भेदभाव के प्राप्त हो रहा है। वर्ष 2020 में 08 महीने तक निःशुल्क खाद्यान्न प्रदान किया गया। प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मिलने वाले निःशुल्क खाद्यान्न को आगामी होली पर्व तक बढ़ा दिया है। होली पर रंगोत्सव का कार्यक्रम बरसाना में होगा, तब तक हम अन्न देंगे। कोरोना अगर तब तक समाप्त नहीं होगा, तो उसके बाद भी अन्न योजना का लाभ गरीबों को देने का कार्य सरकार करेगी। प्रदेश सरकार द्वारा 12 दिसम्बर, 2021 से होली 2022 तक अन्त्योदय कार्डधारकों को 35 किलोग्राम खाद्यान्न के साथ 01 किलोग्राम दाल, 01 किलोग्राम खाद्य तेल, 01 किलोग्राम नमक और 01 किलोग्राम चीनी निःशुल्क प्रदान की जाएगी। पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को प्रति यूनिट 05 किलोग्राम खाद्यान्न, 01 किलोग्राम दाल, 01 किलोग्राम खाद्य तेल, 01 किलोग्राम नमक निःशुल्क प्रदान किया जाएगा। इस प्रकार, 15 करोड़ लोगों को एक माह में दो बार निःशुल्क खाद्यान्न प्राप्त होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के प्रति हम सभी को जागरूक एवं सतर्क रहने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री जी की अनुकम्पा से सबको वैक्सीन मुफ्त वैक्सीन प्रदान की जा रही है। यह हम सबका कर्तव्य है कि कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज अवश्य लें। उन्होंने कहा कि पूरे देश में उत्तर प्रदेश 17 करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन की डोज लगाने वाला पहला प्रदेश है। प्रदेश में 15 से 16 लाख कोविड की डोज प्रतिदिन लगायी जा रही हैं।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने लाभार्थीपरक विकास परियोजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण-पत्र, स्वीकृति-पत्र, प्रतीकात्मक चेक एवं आवास की चाबी प्रदान की और शिशुओं का अन्नप्राशन भी कराया।

इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, दुग्ध विकास एवं पशुधन मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
btnimage