मुख्य सचिव ने वाराणसी में प्रस्तावित जी-20 बैठक की तैयारियों की समीक्षा की

मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने वाराणसी में दिनांक 11 से 13 जून, 2023 तक प्रस्तावित जी-20 बैठक की तैयारियों की समीक्षा की।
अपने संबोधन में मुख्य सचिव ने कहा कि भारत की सांस्कृतिक राजधानी काशी में जी-20 की बैठक का होना गर्व का विषय है। बैठक में प्रदेश की समृद्ध परंपरा और संस्कृति का प्रदर्शन किया जाये, इससे राज्य को विश्व स्तर पर नई पहचान मिलेगी। उन्होंने कहा कि 11 जून, 2023 से वाराणसी में प्रस्तावित जी-20 की बैठक के दृष्टिगत सभी तैयारियों को अन्तिम रूप प्रदान किया जाये। आयोजन की तैयारियों में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहनी चाहिये, ताकि बनारस आने वाले मेहमान अच्छी यादें लेकर जायें।
उन्होंने कहा कि आयोजन के दौरान शहर की सफाई-व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रहे। पुलिस का व्यवहार फ्रेंडली होना चाहिये। जी-20 के सम्मेलन में पुलिस ऐसा व्यवहार करे, जिससे पूरे महकमे पर गर्व हो। अग्निशमन विभाग किसी भी आपात स्थिति के लिए पूरी तरह से तैयार रहे। अतिथियों के ठहरने एवं खाने-पीने का प्रबंध उच्चस्तरीय होना चाहिये। अतिथियों के लिए भ्रमण आदि की भी व्यवस्था पहले से सुनिश्चित करा ली जाये।
उन्होंने कहा कि अतिथियों के साथ लाइजनिंग अधिकारियों की ड्यूटी का निर्धारण कर उनकी ट्रेनिंग समय से करा दी जाये। बैठक में शहर के सौंदर्यीकरण, सांस्कृतिक कार्यक्रमों, विदेशी प्रतिनिधियों की सुरक्षा और यातायात को सुव्यवस्थित करने सहित विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गई।
इससे पूर्व, बैठक में प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जी-20 बैठक से सम्बन्धित तैयारियों की प्रगति आदि से अवगत कराया गया।
बैठक में प्रमुख सचिव नगर विकास अमृत अभिजात, सचिव नगर विकास रंजन कुमार, प्रबंध निदेशक यूपीपीसीएल पंकज कुमार सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण आदि तथा वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से वाराणसी के मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
btnimage