मुख्यमंत्री ने वाराणसी में प्रधानमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम की तैयारियों और निर्माण कार्यों की समीक्षा की

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद वाराणसी भ्रमण के दौरान अधिकारियों के साथ विकास परियोजनाओं एवं निर्माण कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। इससे पूर्व, उन्होंने करखियावं में बनास काशी संकुल जाकर वहां 30 एकड़ भूमि पर लगभग 475 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित अमूल प्लाण्ट का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में जनप्रतिनिधियों से भेंट की।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रस्तावित वाराणसी कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि अयोध्या में भगवान श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद प्रधानमंत्री का यह पहला वाराणसी दौरा है। सभी सम्बन्धित विभागों की जिम्मेदारी तय कर कार्यक्रम को भव्यता के साथ संपन्न कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने सभी आवश्यक तैयारियों को समय से तथा उच्च गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराए जाने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दृष्टिगत शहर एवं सड़कों पर समुचित स्वच्छता एवं सजावट कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम के दौरान सड़क पर कहीं भी गंदगी नहीं होनी चाहिए। सड़कों पर कहीं भी छुट्टा पशु नहीं दिखाई देने चाहिए। सड़कें गड्ढा मुक्त होनी चाहिए। सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रहे।

मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग के कार्यों को शीघ्रता से प्रारम्भ कराए जाने के लिए एन0ओ0सी0 की कार्यवाही के समय ही टेन्डर प्रक्रिया अपनाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों द्वारा मौके पर जाकर कार्यों का निरीक्षण किया जाए, ताकि सड़क व नाली आदि कार्य मानक के अनुसार पूर्ण हों। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर को अवशेष कार्यों को आगामी मार्च के प्रथम सप्ताह में पूरा करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की व्यवस्था की जाए कि कार्य के दौरान आवागमन अनावश्यक बाधित न हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़कों के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण के कार्य को तेजी से पूर्ण किया जाए। निर्माणाधीन सभी 06 सड़कों को मार्च के प्रथम सप्ताह तक पूर्ण कर लिया जाए, जिससे आम जनमानस को सुगम यातायात में कोई परेशानी न होने पाए। उन्होंने पंचकोसी परिक्रमा मार्ग पर विकसित किए गए पड़ावों के संचालन व रख-रखाव आदि हेतु सुदृढ़ व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने के लिए निर्देशित किया।

मुख्यमंत्री ने सारनाथ में प्रो-पुअर योजना के तहत बचे कार्यों को मार्च के प्रथम सप्ताह तक पूरा कराये जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य के दौरान सड़क सुरक्षा एवं आमजन की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने कार्य के दौरान सुरक्षा के निर्धारित मानकों का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित किए जाने हेतु संबंधित विभाग के अभियंताओं को निर्देशित किया।

मुख्यमंत्री ने विभिन्न परियोजनाओं के निर्माण हेतु अधिग्रहीत होने वाली सम्पत्तियों का समुचित मुआवजा संबंधित पक्ष को दिए जाने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने एयरपोर्ट विस्तारीकरण के लिए शीघ्रता से भूमि अधिग्रहण कराए जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि पंचकोसी परिक्रमा मार्ग पर बनी धर्मशालाओं पर अवैध कब्जे हटाए जाएं, जिससे साधु-संतों को ठहरने की बेहतर सुविधा प्राप्त हो सके। उन्होंने सामूहिक विवाह योजना में किसी भी स्तर पर गड़बड़ी पाए जाने पर जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने रवींद्रपुरी में सीवर और नाली आदि कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण कराए जाने हेतु जल संस्थान के अधिकारियों को निर्देशित किया। राजकीय निर्माण निगम के लंबित निर्माण कार्यों को समय से पूर्ण कराए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इसमें शिथिलता पाए जाने पर सम्बन्धित के विरुद्ध कार्रवाई  की जाएगी। श्री शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय को उच्चीकृत किए जाने हेतु धनराशि अवमुक्त होने के बावजूद कार्य प्रारंभ न होने पर उन्होंने भवन खंड के अधिशासी अभियंता के विरुद्ध शासन को पत्र लिखने तथा कार्य शीघ्र शुरू कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने नवशहरी क्षेत्रों में ड्रेनेज, सीवर, पेयजल की समुचित व्यवस्था के साथ ही साफ सफाई, स्ट्रीट लाइट आदि की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने जनप्रतिनिधियों के सुझावों का प्राथमिकता से अनुपालन सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री को मण्डलायुक्त वाराणसी ने प्रधानमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम के दौरान लोकार्पित व शिलान्यास की जाने वाली परियोजनाओं की जानकारी दी और उन्हें सभी प्रशासनिक तैयारियों से अवगत कराया। पुलिस कमिश्नर, वाराणसी ने प्रधानमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम के दृष्टिगत रोड डायवर्जन, सुरक्षा व्यवस्था तथा ट्रैफिक के उचित प्रबंध के बारे में अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने सभी व्यवस्थाओं को जिम्मेदारी के साथ पूरा कराए जाने के निर्देश दिए।

समीक्षा बैठक में स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क एवं पंजीयन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवीन्द्र जायसवाल, आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर मिश्र ’दयालु’ सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री ने श्री कालभैरव मन्दिर, श्री काशी विश्वनाथ मन्दिर एवं श्री संकट मोचन मन्दिर में दर्शन-पूजन किया। मुख्यमंत्री ने स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क एवं पंजीयन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री रवीन्द्र जायसवाल के आवास पर जाकर उनके पुत्र तथा पुत्रवधू को आशीर्वाद दिया।

मुख्यमंत्री ने संकट मोचन मंदिर के महन्त श्री विश्वम्भर नाथ मिश्र से भेंट कर उनकी माताजी की मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त की। उन्होंने रानीपुर में किसान नेता श्री महेंद्र सिंह के घर जाकर उनके परिजनों से भेंट की।

मुख्यमंत्री ने वाराणसी भ्रमण के दौरान सिगरा स्थित डॉ0 सम्पूर्णानन्द क्रीड़ा स्टेडियम में हो रहे निर्माण कार्यों तथा रोपवे कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया। कार्यदायी संस्था के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री जी को कराये जा रहे कार्यों एवं उसकी प्रगति से अवगत कराया। मुख्यमंत्री जी ने कार्यों में तेजी लाने एवं कार्य के दौरान सुरक्षा मानकों को पूरी तरह अपनाए जाने पर बल दिया।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage