ललितपुर में फार्मा पार्क स्थापना कार्य का श्री गणेश, 1472 एकड़ में होगा डेवलप

ललितपुर में फार्मा पार्क स्थापना कार्य का श्री गणेश

औद्योगिक विकास मंत्री नन्दी ने जारी की 25 करोड़ की धनराशि

सब स्टेशन एवं ट्रांसमिशन लाइन के साथ पहुंच मार्ग के चौड़ीकरण का कराया जाएगा कार्य

1472 एकड़ में डेवलप होगा ड्रग फार्मा पार्क

मास्टर प्लान व डीपीआर बनाने के भी दिए गए हैं निर्देश

बुंदेलखंड के ललितपुर में प्रस्तावित बल्क ड्रग फार्मा पार्क को विकसित करने के कार्य का जल्द ही श्री गणेश होने जा रहा है, जिसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने 25 करोड़ रूपये की धनराशि स्वीकृत करते हुए धनराशि जारी करने के निर्देश दिए हैं, जिससे फार्मा पार्क के प्रथम चरण को विकसित करने के लिए सब स्टेशन एवं ट्रांसमिशन लाइन के साथ पहुंच मार्ग के चौड़ीकरण का कार्य कराया जा सके, वहीं जल्द ही मास्टर प्लान के साथ ही डीपीआर बनाने के भी निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिए गए हैं। मंत्री नंदी ने बताया कि बुन्देलखण्ड जैसे पिछड़े क्षेत्र में फार्मा पार्क की स्थापना से हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा साथ ही इस क्षेत्र का परिदृश्य बदल जायेगा।

मंत्री नन्दी ने कहा कि जनपद ललितपुर को उत्तर प्रदेश में फार्मा इण्डस्ट्री का हब बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा बल्क ड्रग फार्मा पार्क विकसित करने की घोषणा की गई थी, जिसे अब आगे बढ़ाते हुए धरातल पर लाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। ललितपुर के 5 गांवों की 1472 एकड़ भूमि पर ड्रग फार्मा पार्क बनना है, जिसे दो फेज में विकसित करना है।

औद्योगिक विकास मंत्री नन्दी ने फार्मा पार्क को डेवलप करने के लिए प्रस्तावित कार्य को स्वीकृति प्रदान करते हुए 25 करोड़ की धनराशी जारी करने के निर्देश दिए हैं, जिसके तहत 7.50 करोड़ की धनराशि से उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन द्वारा सब स्टेशन एवं ट्रांसमिशन का कार्य, 17.37 करोड़ की धनाशि से उत्तर प्रदेश लोक निर्माण विभाग द्वारा पहुंच मार्ग के चौड़ीकरण का कार्य, वहीं 12 लाख 71 हजार की धनराशि से सर्वे एवं मृदा परीक्षण का कार्य कराया जाएगा।

इसी के साथ जेनरिक दवाओं के उत्पादन के हब के तौर पर ललितपुर के विकास का रास्ता साफ हो गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की मंशा के अनुसार फेज-1 में 300 एकड़ भूमि के डीटेल्ड मास्टर प्लान व प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कराकर विकास कार्यों को धरातल पर लाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है, जिसके लिए उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) को डीटेल्ड मास्टर प्लान व प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कराने के निर्देश दिए गए हैं।

ललितपुर में ड्रग पार्क के लिये मडावरा तहसील के तहत आने वाले सैदपुर में 426 व गडोलीकलां में 249 एकड़, महरौनी तहसील के तहत आने वाले लरगन में 239, करौंदा में 116 एकड़ व रामपुर में 441 एकड़ भूमि चिन्हित की गयी है। यूपीसीडा द्वारा यहां कुल भूमि सर्वेक्षण में आधुनिक सर्वेक्षण तकनीकों जैसे डिजिटल टोटल स्टेशन, डीजीपीएस, ड्रोन आदि का उपयोग करके मानचित्र तैयार कराया जा रहा है. यह सर्वे ऑफ इंडिया के ग्रेट ट्रिगोनोमेट्रिक सर्वे लेवलिंग बेंचमार्क के आधार पर होगा। निरीक्षण स्थल पर डीजीपीएस का उपयोग करके ग्राउंड कंट्रोल नेटवर्क की स्थापना की प्रक्रिया चल रही है।

ललितपुर में बल्क ड्रग फार्मा पार्क के विकास के लिए फेज-1 में यूपीसीडा ने डीटेल्ड मास्टर प्लान व प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने के लिये नेशनल कॉम्पिटीटिव बिडिंग (एनसीबी) के जरिए रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) व रिक्वेस्ट फॉर क्वॉलिफिकेशन (आरएफक्यू) प्रक्रिया के जरिए आवेदन मांगे हैं।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage