एलडीए बसन्तकुंज योजना में लगाएगा प्राॅपर्टी मेला, निवेशकों को करायी जाएगी सम्पत्तियों की विजिट

लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डाॅ0 इन्द्रमणि त्रिपाठी ने व्यावसायिक सम्पत्तियों के निस्तारण के सम्बंध में अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ की बैठक

ई-नीलामी के सफल बोलीदाताओं को आवंटन पत्र जारी करने में विलम्ब पर उपाध्यक्ष ने सम्बंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को लगायी फटकार

उपाध्यक्ष ने बैठक में ही निर्धारित की फाइल के मूवमेंट की समयसीमा, विलम्ब पर सम्बंधित के खिलाफ आरोप पत्र जारी करने के साथ कटेगा वेतन

लखनऊ विकास प्राधिकरण जल्द ही हरदोई रोड स्थित बसन्तकुंज योजना में प्राॅपर्टी मेला लगाएगा। जिसमें निवेशकों व निजी विकासकर्ताओं को आमंत्रित करके मौके पर ही व्यावसायिक व आवासीय सम्पत्तियों की साइट विजिट करायी जाएगी। प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डाॅ0 इन्द्रमणि त्रिपाठी ने गुरूवार को अधिकारियों के साथ बैठक करके इस बाबत निर्देश दिये हैं। इस दौरान उपाध्यक्ष ने व्यावसायिक सम्पत्तियों के निस्तारण को लेकर ई-आक्शन के अंतर्गत की जाने वाली कार्यवाही की भी समीक्षा की।

इसमें पाया गया कि प्राधिकरण ने नवम्बर, 2023 से लेकर मार्च, 2024 तक ई-आॅक्शन के माध्यम से कुल 212 व्यावसायिक/आवासीय सम्पत्तियां बेची हैं। समीक्षा में पता चला कि ई-नीमाली में बोली लगाने वाले कुछ सफल बोलीदाताओं को आवंटन पत्र विलम्ब से जारी हुआ है। इस पर उपाध्यक्ष ने सम्पत्ति व कम्प्यूटर अनुभाग के सम्बंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को फटकार लगाते हुए कार्यप्रणाली सुधारने की हिदायत दी। उपाध्यक्ष ने बैठक में ही फाइल के मूवमेंट की समयसीमा निर्धारित करते हुए निर्देशित किया कि जिस दिन पत्रावली स्वीकृत हो, उसके 15 दिन के अंदर सफल बोलीदाता को आवंटन पत्र मिल जाना चाहिए। इसमें किसी भी सूरत में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और जिस स्तर पर फाइल जितने दिन लंबित रहेगी, सम्बंधित का उतने दिन का वेतन काटने के साथ ही उसके खिलाफ आरोप पत्र जारी किया जाएगा।

उपाध्यक्ष ने निर्देशित किया कि सम्पत्तियों के साइट प्लान के सत्यापन के लिए अभियंत्रण अनुभाग को भेजी जाने वाली समस्त फाइलों की सम्बंधित अधिशासी अभियंता व मुख्य अभियंता द्वारा नियमित रूप से समीक्षा की जाएगी। साथ ही क्षेत्रीय अवर अभियंता को फाइल प्राप्त होने के दो दिन के अंदर उक्त सम्पत्ति का स्थल निरीक्षण करके रिपोर्ट लगानी होेगी।

बैठक में मुख्य अभियंता ए0के0 सिंह, वित्त नियंत्रक दीपक सिंह, मुख्य नगर नियोजक के0के0 गौतम, विशेष कार्याधिकारी देवांश त्रिवेदी एवं शशिभूषण पाठक, अधिशासी अभियंता मनोज सागर एवं नवनीत शर्मा समेत अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage