मुख्यमंत्री ने गीडा, गोरखपुर में 1,040 करोड़ रु0 लागत की 20 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डबल इंजन सरकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उस लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ रही है, जिसका संकल्प एक विकसित भारत है। विकसित भारत के लिए विकसित उत्तर प्रदेश तथा विकसित उत्तर प्रदेश के लिए विकसित गोरखपुर आवश्यक है। गोरखपुर के विकास के लिए औद्योगिक निवेश आवश्यक है। आज गोरखपुर में यह कार्य लगातार हो रहा है। इस प्रकार का सफल वातावरण एक अच्छी नीयत वाली सरकार के परिणाम स्वरूप ही सामने आता है। यहां उद्योग व निवेश प्रोत्साहन के लिए जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, गीडा व जनप्रतिनिधि के साथ जनता भी बधाई के पात्र हैं, जो अपनी भूमि देकर उद्योगों को प्रोत्साहित कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने सेक्टर-13, गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) गोरखपुर में आयोजित कार्यक्रम में 1,040 करोड़ रुपये लागत की 20 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के उपरान्त अपने विचार व्यक्त किये। इन विकास परियोजनाओं में 650 करोड़ रुपये लागत की गीडा के सेक्टर 11 में कालेसर आवासीय भूखण्ड परियोजना का शुभारम्भ, 90 करोड़ रुपये लागत की अन्य 18 विकास परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास के साथ 300 करोड़ रुपये लागत की गीडा के सेक्टर-13 में प्लास्टिक रिसाइक्लिंग एवं फूड पैकेजिंग कंटेनर यूनिट का शिलान्यास भी सम्मिलित हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (नाइलिट) के छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्र भी वितरित किए।

मुख्यमंत्री ने गोरखपुरवासियों को विकास परियोजनाओं की बधाई देते हुए कहा कि आज एक साथ गीडा में कई परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास का कार्य हो रहा है, जिसमें 650 करोड़ रुपये लागत की कालेसर आवासीय योजना का शुभारम्भ भी सम्मिलित है। इसके अतिरिक्त गीडा से जुड़ी करोड़ों रुपये की परियोजनाओं का भी लोकार्पण व शिलान्यास हुआ है। एस0डी0 इण्टरनेशनल के 300 करोड़ रुपये के निवेश के भूमि पूजन का कार्यक्रम भी सम्पन्न हुआ है। गीडा द्वारा युवाओं को कौशल विकास हेतु नाइलिट में प्रशिक्षित युवाओं को प्रमाण पत्र भी दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने प्रत्येक व्यक्ति को आवास देने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरूआत की थी। देश में 04 करोड़ गरीबों को आवास का लाभ प्राप्त हुआ है। उत्तर प्रदेश में 56 लाख लोगों को आवास उपलब्ध कराया गया है। ये वे लोग हैं, जो बहुत गरीब हैं तथा जिनके पास कुछ भी नहीं था। इसके अतिरिक्त पैसे से आवास खरीदने वालों के लिए आज यहां गोरखपुर विकास प्राधिकरण एवं गीडा ने सभी श्रेणी के लोगों को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिए योजना शुरू की है। इसके अन्तर्गत बुनियादी सुविधाओं जैसे सड़क, बिजली, नाली, सीवर आदि के लिए विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां एस0डी0 इण्टरनेशनल 300 करोड़ रुपये की लागत से अपनी पैकेजिंग यूनिट लगायेगा। पैकेजिंग का बहुत महत्व होता है। उत्पाद कितना भी अच्छा हो, यदि उसका बाहरी आवरण अच्छा न हो, तो वह बाजार में प्रतिस्पर्धा नहीं कर पाता है। खरीददार सबसे पहले उसके बाहरी आवरण से ही आकर्षित होता है। इससे उत्पाद की अच्छी कीमत प्राप्त होती है। दुनिया के बाजार में भी वह उत्पाद अच्छी प्रतिस्पर्धा करता है। गीडा में इस कार्य से न केवल गोरखपुर, बल्कि पूर्वी उत्तर प्रदेश व नेपाल के लोग भी लाभान्वित होंगे। विभिन्न ब्राण्ड की अच्छी पैकेजिंग की सुविधा उन्हें प्राप्त होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज गीडा नई ऊंचाईयों को छू रहा है। यहां पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे का लिंक एक्सप्रेस-वे भी बन रहा है। शीघ्र ही इसका निर्माण कार्य पूरा होने पर लखनऊ जाने के लिए लोगों को दो मार्ग प्राप्त हो जायेंगे। पहला मार्ग खलीलाबाद से व दूसरा मार्ग इस लिंक एक्सप्रेस-वे से प्राप्त होगा। इस एक्सप्रेस-वे के दोनों ओर औद्योगिक कलस्टर विकसित करने के लिए विगत 03 से 04 वर्ष से लगातार प्रयास किया गया है। वरुण वेबरेज, केयान इण्डस्ट्रीज, सी0पी0 मिल्क, तत्वा प्लास्टिक, सी0डब्ल्यू0सी0 बालाजी प्रोसेसिंग, रूंगटा इण्डस्ट्री आदि द्वारा उद्योग लगाये जा रहे हैं। इन उद्यमों से सीधे-सीधे 05 हजार युवाओं को नौकरी प्राप्त होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नाइलिट द्वारा प्रशिक्षित युवा अब स्थानीय स्तर पर नौकरी प्राप्त कर सकेगा, यह छात्र अकादमिक डिग्री के साथ कौशल प्रशिक्षण भी प्राप्त कर रहे हैं। राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 में भी यह प्राविधान है कि छात्र परम्परागत शिक्षा के साथ स्किल डेवलपमेंट के कोर्स से जुड़कर प्रमाण पत्र प्राप्त करें। इससे छात्रों को पढ़ाई के बाद रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। युवा आत्मनिर्भर होकर आगे भी किसी प्रतिस्पर्धा की तैयारी कर सकता है। अब वह जीवन भर माता-पिता पर आश्रित नहीं रहेगा। गीडा में 05 हजार नौकरियों के अतिरिक्त अन्य उद्योगों में भी युवाओं को रोजगार प्राप्त होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद गोरखपुर में 25 एकड़ क्षेत्र में गारमेण्ट पार्क विकसित हो रहा है। प्लास्टिक पार्क 88 एकड़ क्षेत्रफल में स्थापित हो रहा है। फ्लैटेड फैक्ट्री भी गीडा में बन रही है। धुरियापार औद्योगिक टाउनशिप के लिए भी भू-अधिग्रहण की कार्यवाही चल रही है। इसमें प्रयास है कि 5500 एकड़ क्षेत्रफल में एक नई टाउनशिप बनाकर औद्योगिक कार्य शुरू किया जा सके। हाल ही में यहां पर एक सीमेण्ट फैक्ट्री के भी निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए है। यहां के लोगों को नौकरियों के लिए देश व प्रदेश के अन्य शहरों में जाना पड़ता है। अब इन उद्योगों की स्थापना के कारण उन्हें यहीं पर नौकरी प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि यह परिणाम अच्छी कानून व्यवस्था व अच्छी सरकार के चुनाव के कारण ही प्राप्त होता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज गोरखपुर, एक नया गोरखपुर बन रहा है। कालेसर से जंगल कौड़िया को जोड़ने के लिए बाईपास बन गया है। गोरखपुर में एम्स है, साथ ही, मेडिकल कॉलेज का उन्नयन भी हो चुका है। यहां फर्टिलाइजर कारखाना शुरू हो चुका है। गोरखपुर में 04-04 विश्वविद्यालय हैं। विगत दिनों शासन द्वारा यहां भौवापार में पशु चिकित्सा महाविद्यालय के निर्माण को भी स्वीकृति दी जा चुकी है। हर एक क्षेत्र में नयापन देखने को मिल रहा है। शिक्षा के लिए सहजनवां में अटल आवासीय विद्यालय तथा हरपुर बुदहट में आश्रम पद्धति विद्यालय का निर्माण हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यहां बहुत सारे निर्माण कार्य हो रहे हैं, जिनके बारे में पहले कोई नहीं सोचता था। यह सारे कार्य सुशासन एवं सकारात्मक माहौल के कारण सम्पन्न हो रहे हैं। अयोध्या में प्रभु श्रीरामलला का भव्य मंदिर बन चुका है। विकास के साथ आस्था को भी सम्मान मिल रहा है। विकास के साथ आस्था का सम्मान तथा बिना भेदभाव सभी को शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त हो, इसके लिए प्रदेश सरकार लगातार कार्य कर रही है।

कार्यक्रम को सांसद रवि किशन शुक्ल तथा विधायक प्रदीप शुक्ला ने भी सम्बोधित किया।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage