सूर्यवंश की राजधानी अयोध्या आज देश की पहली सोलर सिटी बन रही: CM Yogi

मुख्यमंत्री ने जनपद अयोध्या में लगभग 1100 करोड़ रु0 लागत की 411 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

मुख्यमंत्री ने आगामी रामनवमी और चैत्र नवरात्रि पर्वों की तैयारियों की समीक्षा की

22 जनवरी से 10 मार्च, 2024 तक अयोध्या में देश व दुनिया के 01 करोड़ श्रद्धालुओं ने प्रभु श्रीरामलला का दर्शन सुगमता के साथ शान्ति, सौहार्द और सुरक्षा के माहौल में किया

अयोध्यावासियों ने दुनिया में आतिथ्य सेवा का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया

प्रधानमंत्री के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में डबल इंजन सरकार अयोध्या में 32 हजार करोड़ रु0 की परियोजनाएं क्रियान्वित करा रही

अयोध्या में इण्टरनेशनल एयरपोर्ट संचालित, होटल, रेस्टोरेण्ट, टैक्सी सेवा का विस्तार, गाइडों को प्रशिक्षित किया जा रहा, फोरलेन व सिक्सलेन की सड़कें अयोध्या को जोड़ रही, अब अयोध्या सुरक्षित माहौल व स्वच्छता के लिए जानी जा रही

दीपोत्सव से अयोध्या की नई पहचान स्थापित हुई

अयोध्या में आज 40 मेगावॉट के सोलर प्लाण्ट का उद्घाटन एवं 40 मेगावॉट के सोलर प्लाण्ट का शिलान्यास सम्पन्न

चैत्र नवरात्रि तथा रामनवमी पर्व पर, श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के सदस्यों से समन्वय करते हुए, श्रीरामलला विराजमान मन्दिर में अष्टमी, नवमी एवं दशमी तक 24 घण्टे दर्शन-पूजन की व्यवस्था किए जाने के निर्देश

गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए दर्शनार्थियों व श्रद्वालुओं के लिए पेयजल की पर्याप्त उपलब्धता रहे

मुख्यमंत्री ने प्रभु श्रीरामलला और श्री हनुमानगढ़ी का दर्शन-पूजन किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 22 जनवरी, 2024 से 10 मार्च, 2024 तक अयोध्या में देश व दुनिया के 01 करोड़ श्रद्धालुओं ने प्रभु श्रीरामलला का दर्शन सुगमता के साथ शान्ति, सौहार्द और सुरक्षा के माहौल में किया है। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि अयोध्यावासियों ने दुनिया में आतिथ्य सेवा का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है। आज अयोध्या का नाम पूरी दुनिया में गूंज रहा है। देश-दुनिया के लोग अयोध्या आना चाहते हैं।

मुख्यमंत्री ने जनपद अयोध्या में लगभग 1100 करोड़ रुपये लागत की 411 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के बाद इस अवसर पर आयोजित एक जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने केन्द्र व राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र व आवास की प्रतीकात्मक चाभी प्रदान कीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभु श्रीरामलला के अपने भव्य, दिव्य एवं नव्य मन्दिर में विराजमान होने के उपरान्त उन्हें पहली बार इतने विशाल सार्वजनिक कार्यक्रम में अयोध्या आने का अवसर प्राप्त हुआ है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में डबल इंजन सरकार अयोध्या में 32 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं क्रियान्वित करा रही है। अयोध्या में इण्टरनेशनल एयरपोर्ट संचालित है। होटल, रेस्टोरेण्ट, टैक्सी सेवा का विस्तार हो रहा है। गाइडों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। फोरलेन व सिक्सलेन की सड़कें अयोध्या को जोड़ रही हैं। अब अयोध्या सुरक्षित माहौल व स्वच्छता के लिए जानी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या को दुनिया की सुन्दरतम नगरी के रूप में स्थापित करने की परिकल्पना आज साकार हो रही है। इसी परिकल्पना को साकार करने के लिए वर्ष 2017 में प्रदेश सरकार ने अयोध्या में दीपोत्सव का आयोजन प्रारम्भ किया। जब हम दीपोत्सव का आयोजन करते थे, तो कुछ लोग बोलते थे कि यह एक औपचारिकता है और हम कहते थे कि यह औपचारिकता नहीं, बल्कि यह भगवान श्रीराम के आगमन की पूर्व तैयारी है। जो कुछ भी हो रहा है, वह प्रभु श्रीराम के आगमन के पूर्व अयोध्यावासियों को मानसिक रूप से तैयार करने के लिए किया जा रहा है। प्रधानमंत्री अयोध्या के विषय में हमेशा पूछते थे कि अयोध्या में क्या हो रहा है। दीपोत्सव कार्यक्रम में प्रधानमंत्री स्वयं सम्मिलित हुए थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दीपोत्सव से अयोध्या की नई पहचान स्थापित हुई है। विगत वर्ष 54 देशों के राजनयिक भी दीपोत्सव कार्यक्रम में आये थे। नया घाट, रामजी की पैड़ी दिव्य एवं भव्य रूप में हम सभी के सामने है। रामपथ, भक्तिपथ व धर्मपथ निर्मित किये गये हैं। टेढ़ी बाजार के फ्लाईओवर और मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण सम्पन्न हो चुका। एक भी व्यापार उजड़ा नहीं, सबका पुनर्वास हुआ। आज लोगों का व्यवसाय कई गुना बढ़ गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यहां लगभग 1,100 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया है, उनमें प्रमुख रूप से 40 मेगावॉट के सोलर प्लाण्ट का उद्घाटन एवं 40 मेगावॉट के सोलर प्लाण्ट का शिलान्यास शामिल है। सूर्यवंश की राजधानी अयोध्या आज देश की पहली सोलर सिटी बन रही है। प्रधानमंत्री का अयोध्या को दुनिया की सुन्दरतम नगरी के रूप में स्थापित करने का विजन है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का संकल्प भारत को विकसित भारत बनाने का है। विकसित भारत के लिए विकसित उत्तर प्रदेश आवश्यक है। विकसित उत्तर प्रदेश के लिए भव्य, दिव्य व विकसित अयोध्या आवश्यक है। डबल इंजन सरकार आपकी सुरक्षा, विकास, समृद्धि व आस्था के सम्मान के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य करती रहेगी। देश को दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में प्रयास किये जा रहे हैं। नौजवानों को रोजगार, किसानों के खेत में पानी, गरीबों को पक्के आवास, राशन सहित विभिन्न सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। प्रदेश सरकार शीघ्र ही फैमिली आई0डी0 जारी करने जा रही है। फैमिली आई0डी0 से पात्र व्यक्तियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने प्रभु श्रीरामलला और श्री हनुमानगढ़ी का दर्शन-पूजन किया।

मुख्यमंत्री ने लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम के उपरान्त आहूत एक बैठक में आगामी रामनवमी और चैत्र नवरात्रि पर्वों की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि चैत्र नवरात्रि तथा रामनवमी पर्व पर, श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के सदस्यों से समन्वय करते हुए, श्रीरामलला विराजमान मन्दिर में अष्टमी, नवमी एवं दशमी तक 24 घण्टे दर्शन-पूजन की व्यवस्था की जाए। गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए दर्शनार्थियों व श्रद्वालुओं के लिए पेयजल की पर्याप्त उपलब्धता रहे। साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। मेले से सम्बन्धित विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्यां को सम्पादित करें। ऐसी व्यवस्था हो कि श्रद्वालुओं को ढाई कि0मी0 से ज्यादा न चलना पड़े। इलेक्ट्रिक बसें लगायी जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि रामनवमी पर्व के समय चुनाव कार्य हो रहे होंगे। इसलिए रामनवमी के अवसर पर मुख्य क्षेत्रों, श्रीरामलला मन्दिर, श्रीहनुमानगढ़ी आदि स्थानों पर स्थायी रूप से पुलिस कार्मिकों सहित अन्य सेवाओं के कार्मिकों की ड्यूटी लगायी जाये। उनको निर्वाचन ड्यूटी से मुक्त रखा जाये, श्रद्वालुओं की संख्या श्रीरामलला विराजमान मन्दिर में दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। इसमें और वृद्धि होने की सम्भावना है।

इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
");pageTracker._trackPageview();
btnimage